किस तरह ख़ुद के साथ सच्चे रहें ?

आप ने लोगों को अक्सर कहते हुए सुना होगा के ‘be yourself’ या ‘ true to yourself ’ या फिर  ‘just be you’. ये सरे वर्ड सुनने में बहुत स्वीट लगते है, पर क्या आपको पता है के इसका क्या meaning होता है|surely आप या तो अपने version के बेस्ट हो सकते है या फिर उस से कम और आप का ये रूप circumstances के according बदलता रहता है|पर वो सब आपके वेरिएशन है के आप किस वक़्त में क्या आर कैसा फील करते है|

true to yourself

खुद का होने का कोई एक वे नहीं है बहुत सरे ways है लेकिन हमें उस वे से देखना चाहए के हम अपने बेस्ट version में हमेशा कैसे रहें | चाहे वो कोई भी सिचुएशन हो हमें अपना बेस्ट देने की कोशिश करनी चाहए| अपने बेस्ट version में रहना ये कोई एक टाइम की बात नहीं है ये एक constant decision है जो आपको हर दिन या फिर हर घंटे लेने चाहए| कभी आप अच्छे decision लेते है,कभी आप सीखते है, कभी आप खुद के साथ सच्चे   रहते है, या फिर कभी  कभी आप अपने आप को धोका देते है|

READ  इन एप्लीकेशन से अपने Phone के टच स्क्रीन को खुद करें Repair !

आप जो कुछ भी करें पर खुद को धोका न दें, खुद को हराए नहीं ,और ये की खुद की पोजीशन को समझे के आप इस दुनया में कहा पे है ये कभी न भूले ये एक करेज का कम है खुद को हर वक़्त हर turn पे मापते रहए के आप कहाँ पे है|

व्हाई पीपल स्टॉप बीइंग true to themselves

एक छोटी उम्र से, हमें फैमली मेम्बर, टीचर , एजुकेशन सिस्टम , हमारे कमुनिटी और समाज के ज़र्ये से अपने आप से खिंच लिया जाता है|कभी कभी जब आपके पास बहुत कुछ कहने के लिए होंगे तो आपको चुप करा दया जाता होगा| और हो सकता है के आपकी curiosity को crushed किया गया हो जब आपके व्हाई को ‘बिकॉज़ आई सेड ‘ के साथ मिलाया जाता हो| या फिर आपकी क्रिएटिविटी को दबाया गया हो और आपको एक ट्रेडिशनल क्लास रूम में बैठाया गया हो|तो ये ऐसे वक़्त है जहा पे आपको आपके खुद के साथ true नहीं रहने दिया गया है|

इस तरह के लगभग हजारो examples होंगे जहा पे हमें अपने true फॉर्म में नहीं रहने दिया जाता है असल में हम , एक culture के रूप में ,एक society के रूप में, humanity के रूप में ,अब पहले से कही ज्यादा और दूर हो गये है|हम उन चलेंजेज़ को फेस करने के लीये फेक दिए जाते है जो हमारे आस पास होता है या हमारे कन्ट्रीज या वर्ल्ड में होता है| unexpected उमीदें और मांग हर तरफ से आती रहती है|

READ  डिजिटल मार्केटिंग क्या होता है? और ये कैसे बिज़नेस को बढ़ावा देता है ?

जब आप खुद के साथ true होते है तो आप जो सोचते है उसके साथ ऑनेस्ट रहते है उसको वैल्यू देते है और उसकी ख्वाहिश रखते है|इसका मतलब यह भी है कि आप अपनी भावनाओं को अपने आप और दूसरों के साथ दिल से कम्यूनिकेट करते हैं|

अपनी सच्चाई को पूरी तरह से जानने और इसे authentically एक्सप्रेस करने के लिए, आपको सबसे पहले अपने साथ गहरे और भरोसेमंद संबंध इम्प्रूव करने की ज़रूरत  है| आप अपनी जागरूकता बढ़ा सकते हैं और अपने साथ कनेक्शन को मजबूत कर सकते है| अपनी  senses और फीलिंग्स पर ध्यान देना सीखकर, और अपने जीवन में ज्यादा awareness पैदा करके,आप खुद से स्ट्रोंग कनेक्शन बना सकते है यह जानने में कॉन्फिडेंस महसूस करें कि आपके लिए क्या गहराई से सही है।

इसलिए हममें से हर एक इन्सान को अपनी true फीलिंग सामने लाने में करेजियस होना होगा, इसे दुनिया में पूरी तरह से और authentically एक्सप्रेस करना होगा|

sign जो बताये you are true to yourself

  • आप सिंपल pure और अच्छा महसूस करेंगे
  • आप जिस रूप में है यूज़ पसंद करेंगे
  • आप की अंतर आत्मा शांत होगी
  • आप किसी भी सिचुएशन को easily manage कर लेंगे
  • आपका कंसंट्रेशन अच्छा होगा|
READ  BSNL का नया प्रीपेड पैक 1 GB डेटा सिर्फ 2.51 रूपये में !

हमेशा कोशिश करे के आप खुद को उस फॉर्म में रखे जिसमे आप खुद को बहुत कोम्फोर्ताब्ले रखते है जो चीजें आपको ख़ुशी देती हो और जिसमे आप अपना बेस्ट परफॉरमेंस देते हो वो करें ताकि आप भी खुश रहे और आपके आस पास के लोग भी|

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here